Uncategorized
चौपाई ---'------ मातु देवकी जन्म दिलाई, बचपन के सुख जसमति पाई । गोकुल में आखों के तारे, गिरवर धारी नंद दुलारे ।। बाल समय में माटी खाई , जसमति माई मारन आई । जब तूने मुख् खोल दिखाया, उसमें था ब्रह्मांड समाया ।। पूतना मारी कंस को मारा , जनम जनम के दुख से तारा । आन बसो हिय जानि धामा, निसदिन जपते राधा नामा ।।
Read More
ज़ख्म -ऐ-  दिल  ….  ग़ज़ल

ज़ख्म -ऐ- दिल …. ग़ज़ल

ग़ज़ल
                     मत   पूछो  कितने  ज़ख्म   खाए  हुए   हैं ,                      हम  तो यारो  हालात   के सताए  हुए  हैं  .                      ज़बीं  पर   क्या   है   लिखा ,नहीं   जानते ,                     हम  तकदीर  को  अपनी  कहाँ  समझ पाए हैं.  ?                     जिंदगी   ने  दिए  हमें  मौके   बे शुमार  मगर   ,                    मंजिल -ऐ- आरजू  लिए  ये कहाँ   भटक  आये  हैं.?              …
Read More

भारत में शीर्ष मूत्रविज्ञान सर्जरी अस्पताल

विज्ञान
Erectile Dysfunction Treatment in India Penile Implant Surgery in India Diabetes cause Impotence Treatment India Penile Prosthesis in India Prostate Cancer Treatment in India Penile Implant Surgery in India Prostate Cancer Impotence Treatment in India Penile Implant International Patient Experience Cosmetic Penile Surgery in India Penile Implant candidate Types of Penile Implants Top Urologist Surgeons in India Cost Comparison Causes of Impotence and Treatment in India Lithotripsy Surgery in India Peyronie Disease Treatment in India Priapism Treatment in India Shockwave Therapy for Erectile Dysfunction in India ED1000 Treatment in India Urethroplasty Surgery in India Urethral Stricture Surgery in India Cystoscopy Surgery in India Inguinal Hernia Surgery in India Urologic Pelvic Pain Syndrome Surgery in India FAQ About Penile Implant Surgery in India Urinary Incontinence Treatment India TUR-Bladder Tumour Surgery in…
Read More
Uncategorized
प्रणाम 🙏 आज की प्रस्तुति ग़ज़ल 2122 2122 2122 212 ग़ज़ल रात भर मेरा तडपना और जलवा चांद का क्या कहें दिल का धडकना और जलवा चांद का वो नही आये मगर कोई कसक होती रही मुस्तकिल यादें बरसना और जलवा चांद का तुम मेरे हो ये यकीं होने तलक रुकते जरा तीर सा तेरा निकलना और जलवा चांद का कट गई थोड़ी बहुत जो साथ तेरे जिन्दगी याद कर कर के सिसकना और जलवा चांद का आखिरी पैगाम पहुचे कातिलों के पास में उम्र भर उनका तरसना और जलवा चांद का... सपना सक्सेना ग्रेटर नोएडा
Read More
Uncategorized
जीवन -मृत्यु जीवन दो पल मृत्यु अटल हर पल जीना निखर नवल जो होना है होके रहेगा लेकिन जाता पल न रुकेगा जीवन के पल खिलने दो रंगो में रंग मिलने दो खुशियों के रस पीने दो हंस के जियो और जीने दो ... सपना सक्सेना स्वरचित
Read More
Uncategorized
चल दिए छोड़ केकिससे कहूं जो रोकेना जाओ सुनो तो ......अब ना होगी वो मुस्कान मीठीवो बातें हठीली कोमल तीखीजो महकेगी याद कभी तो कहेंगेअटल थे सदा अटल ही रहेंगे .......😢🙏🙏🙏
Read More

टूटना

Uncategorized, कविता
[contact-form][contact-field label="Name" type="name" required="true" /][contact-field label="Email" type="email" required="true" /][contact-field label="Website" type="url" /][contact-field label="Message" type="textarea" /][/contact-form] टूटना कुछ चीजें अक्सर टूट जाया करती हैं जैसे टूट जाते हैं खिड़कियों के काँच जैसे टूट जाते हैं किमती कप और प्यालियाँ जैसे टूट जाते हैं डालियों से हरे पत्ते जैसे टूट जाया करती हैं आसमान से बिजलियाँ वैसे ही कुछ टूट जाता है इंसान इंसान का टूटना काँच, कप, पत्ते या कि बिजलियों जैसा नहीं है क्योंकि जब चीजें टूटती हैं तो दूसरी मिलने या जुड़ने की सम्भावना भी की जा सकती है लेकिन जब इंसान टूटता है तो उसके टूटने का दुख उसके अंतःकरण में घर कर जाता है जिसे मिटा पाना सम्भव तो होता है लेकिन बहुत ही मुश्किल भी l
Read More
Uncategorized
मेरा हिंदुस्तान झूम झूम के गाए तिरंगा गाथा देश महान की ठाठ अलग हैं बात अलग है मेरे देश महान की लाख लगाए कोई पहरा जीत नहीं रुकने वाली भाई भाई के अमर प्रेम की रीति नहीं मिटने वाली दुश्मन की तोपों पर भारी दहाड़ वीर बलवान की .... जो भी इस धरती पर आया उसको ही सत्कार मिला भेदभाव का नाम नहीं है सबको बराबर प्यार मिला प्रेम भाव से मिलकर रहना छोड़ो बात नादान की ठाठ अलग हैं बात अलग है मेरे हिंदुस्तान की .... सरहद की पहरेदारी में मेरे वीर जियाले हैं जिनकी लहू की बूंदों से घर-घर में उजाले हैं श्रद्धा से सिर झुक जाते जब बात छिड़ी जवान की ठाठ अलग हैं बात अलग है मेरे हिंदुस्तान की .... स्वरचित सपना सक्सेना
Read More
Uncategorized
मेरा हिंदुस्तान झूम झूम के गाए तिरंगा गाथा देश महान की ठाठ अलग हैं बात अलग है मेरे देश महान की लाख लगाए कोई पहरा जीत नहीं रुकने वाली भाई भाई के अमर प्रेम की रीति नहीं मिटने वाली दुश्मन की तोपों पर भारी दहाड़ वीर बलवान की .... जो भी इस धरती पर आया उसको ही सत्कार मिला भेदभाव का नाम नहीं है सबको बराबर प्यार मिला प्रेम भाव से मिलकर रहना छोड़ो बात नादान की ठाठ अलग हैं बात अलग है मेरे हिंदुस्तान की .... सरहद की पहरेदारी में मेरे वीर जियाले हैं जिनकी लहू की बूंदों से घर-घर में उजाले हैं श्रद्धा से सिर झुक जाते जब बात छिड़ी जवान की ठाठ अलग हैं बात अलग है मेरे हिंदुस्तान की .... स्वरचित सपना सक्सेना
Read More
Uncategorized
मेरा हिंदुस्तान झूम झूम के गाए तिरंगा गाथा देश महान की ठाठ अलग हैं बात अलग है मेरे देश महान की लाख लगाए कोई पहरा जीत नहीं रुकने वाली भाई भाई के अमर प्रेम की रीति नहीं मिटने वाली दुश्मन की तोपों पर भारी दहाड़ वीर बलवान की .... जो भी इस धरती पर आया उसको ही सत्कार मिला भेदभाव का नाम नहीं है सबको बराबर प्यार मिला प्रेम भाव से मिलकर रहना छोड़ो बात नादान की ठाठ अलग हैं बात अलग है मेरे हिंदुस्तान की .... सरहद की पहरेदारी में मेरे वीर जियाले हैं जिनकी लहू की बूंदों से घर-घर में उजाले हैं श्रद्धा से सिर झुक जाते जब बात छिड़ी जवान की ठाठ अलग हैं बात अलग है मेरे हिंदुस्तान की .... स्वरचित सपना सक्सेना
Read More
मैं और मेरा भारत (कविता )

मैं और मेरा भारत (कविता )

कविता
  मेरी और मेरे भारत की , किस्मत है एक जैसी . कभी उबड़ -खाबड़ रास्तों , कभी समतल मैदान जैसी . कभी जिंदगी के तुफानो में हिचकोले खाती ,तो कभी तुफानो से पार लगती सी . कभी आशा -निराशा में झूलती , कभी आनंद-उत्सव मनाती सी. टूटी हुई नाव कहेंया जर्जर ईमारत , मगर जीने का होंसला रखती सी . कभी आस्तीनों के साँपों से झूझती , तो कभी दुश्मनों का सामना करती . कभी गुज़रे हुए सुनहरे ज़मानो और , गुज़रे हुए अपने प्यारों को याद करती . अब भी हैं कुछ शेष हमनवां ,हमराज़ , जिनके प्यार को संजोये हुए है वोह. दिल टूट चूका है फिर भी ज़िंदा है, टूटे हुए दिल को जोड़े हुए है वोह. अरमां है, चाहतें ,कुछ ख्वाब भी हैं, शेष हैं…
Read More

Berawal Dari Profesional Menjadi Pebisnis

Uncategorized
Banyak dari kita yang tidak menyadari bahwa hampir 80% umur kita habis untuk urusan pekerjaan. Formatnya dapat meeting rutin sampai berjumpa calon klien.Pada usia tertentu pernah melintas di benak banyak wanita karier : "Apakah ini kehidupan yang saya dambakan?" Tiap-tiap wanita karier yang telah menikah dan punya si kecil maka sang wanita karier mulai menghabiskan sebagian jam kehidupannya di rumah. Nah pada situasi ini, umumnya seorang new mom akan mengisi waktu lowong dengan kembali menggeluti hobi masa mudanya. Peristiwa hal yang demikian yaitu awal dari perjalanan karier yang luar umum, pun lebih hebat daripada tahapan karier professional di kantor. Merubah fungsi hobi dari sekadar pemuas jiwa menjadi sumber pendapatan memang bukan hal yang gampang. Ada beberapa hal yang perlu dicermati secara inovatif. Pertama, kekuatan visi sang calon pebisnis. Setiap orang…
Read More